सोलर पैनल के टाइप और उनके लाभ जाने, देश के टॉप सोलर सिस्टम ब्रांडो के नाम

Photo of author

Written by Rohit Kumar

verified_75

Updated on

benifits-of-installing-a-solar-panel-its-type-and-popular-brands

सोलर पावर को विश्वभर में सर्वाधिक बड़ा प्राकृतिक स्रोत माना जाता है जोकि हमको प्रचुर मात्रा में मिली हुई है। वर्तमान दौर में साइंस ने एक अभूतपूर्व आविष्कार दिया है सोलर पैनल। यह पैनल काफी सरलता से सूर्य की ऊर्जा को बिजली में परिवर्तित करने का काम करते है। सोलर पैनल का इस्तेमाल प्रकृति को भी साफ सुथरा रखने में मदद करता है। आज के लेख में आपको सोलर पैनलों के फायदे बताने वाले है।

सोलर पैनलों के फीचर्स और लाभ

1. BIS सर्टिफिकेशन

BIS Certification

किसी भी सोलर पैनल को भारतीय स्टैंडर्ड ब्यूरो (BIS) से प्रमाणित होना पड़ता है जोकि इस उपकरण एवं ब्रांड की गुणवत्ता को प्रदर्शित करेगा। इससे उत्पाद की असलियत एवं सुरक्षा का भरोसा भी मिलेगा। सोलर पैनल की खरीदारी करने से पूर्व इस बात की जानकारी ले लेनी चाहिए। इस सूची को भारत सरकार निकलती है जोकि मॉडल एवं निर्माताओं की प्रमाणित सूची है। सरकार की तरफ से कंपनी के उपकरणों का भौतिक निरीक्षण भी होता है।

2. सोलर पैनल पर वार्रन्टी

Earthnewj से अब व्हाट्सप्प पर जुड़ें, क्लिक करें

एक अच्छे एवं फेमस सोलर निर्माता ब्रांड से ग्राहकों को सोलर पैनलों पर वारंटी भी मिलती है। इस वारंटी से उत्पाद की विश्वसनीयता भी पता चलती है। सोलर ब्रांड 2 टाइप की वारंटी देते है –

प्रोडक्ट वारंटी

ये सोलर पैनल पर मिलने वाली पहली तरह की वारंटी है। सोलर पैनलों में बस बार को आपस में कनेक्ट करते है। यदि इन पैनलों में किसी भी सर्किट में खराबी आ जाती है तो पूरा पैनल कार्य नही कर पाता है। यदि कंपनी की कंडीशन के मुताबिक सोलर पैनल में खराबी आ रही हो तो ग्राहक से बगैर पैसे लेकर ही इसको बदला जाता है। अधिकांश सोलर ब्रांड अपने पैनलों में 5 से 15 सालो की उत्पाद वारंटी देते है।

परफॉर्मेंस वारंटी

इस वारंटी के अंतर्गत प्रत्येक वर्ष सोलर पैनलों के बिजली उत्पादन की क्षमता में कुछ कमी आ जाती है जोकि न्यूनतम है। सोलर पैनलों का कार्यकाल करीबन 90 फीसदी क्षमता के साथ 2 वर्षो तक का रहता है एवं बाद के 25 वर्षो तक ये 80 फीसदी दक्षता से बिजली पैदा कर पाते है। यदि सोलर पैनलों से अधिक गति के साथ अपनी दक्षता को खोया जाता है तो सोलर निर्माता इसकी सर्विस करते है। अधिकांश सोलर कंपनी 25 से 30 सालो तक के लिए परफॉर्मेंस वारंटी को दे रही है।

3. सोलर मैन्युफैक्चरर ब्रांड वैल्यू

सभी ब्रांड के सोलर पैनल की खरीद करने से पूर्व ग्राहक का कंपनी की ब्रांड वैल्यू को चेक करना आवश्यक है। भरोसेमंद सोलर कंपनी को लेकर इनके उत्पाद के मामले में विश्वास कर सकते है। यदि किसी ग्राहक के सोलर उत्पाद में किसी प्रकार की खराबी आ जाती है तो लोकप्रिय सोलर ब्रांड की कंपनी इसको तत्काल सही करती है। सिर्फ भरोसेमंद ब्रांड ही उनके सोलर पैनल पर वारंटी को दे सकेगी चूंकि वो अपने सोलर पैनलों के लिए लंबे समय तक जुड़ी रही है।

Also Readtata-1kw-solar-system-complete-price-and-subsidy

टाटा के सबसे अच्छे 1kW सोलर से तगड़ी पावर पाए, जाने किफायती मूल्य

4. सोलर पैनल के टाइप

Solar Panel K Type

हमारे देश में मुख्यतया 3 प्रकार के सोलर पैनल लोकप्रिय है जिनको ग्राहक अपने सोलर सिस्टम में इस्तेमाल कर पाएंगे। ये इस प्रकार से है,

पॉलीक्रिस्टलाइन सोलर पैनल

यह परंपरागत सोलर पैनल होते है जोकि नीले रंग के कारण पहचाने जाते है। ये काफी अधिक इस्तेमाल में आते है चूंकि इनका मूल्य सबसे कम रहता है। इन सोलर पैनलों पर सरकार से सब्सिडी भी मिलती है।

मोनोक्रिस्टलाइन सोलर पैनल

इस सोलर पैनल की दक्षता अधिक रहती है एवं ये सामान्य रूप से काले एवं घाड़े नीले रंग में आते है। ये सोलर पैनल पाली सोलर पैनल से अधिक मूल्य पर आते है। इन सोलर पैनलों को इस्तेमाल में लाकर ग्राहक एक पावरपुल सोलर पैनल सिस्टम को इंस्टाल कर सकेंगे।

बाइफेशियल सोलर पैनल

यह सर्वाधिक मॉर्डन सोलर पैनल होते है जोकि अपनी दोनो साइड से आ रही सीधी रोशनी एवं परिवर्ती रोशनी से बिजली का उत्पादन कर पाते है। साथ ही इनकी कुशलता भी काफी अधिक रहती है और इसी कारण ये अधिक मूल्य में आते है। इस तरह के सोलर पैनल का इस्तेमाल उन्नत सोलर सिस्टम में करते है।

यह भी पढ़े:- फ्री बिजली पर चलाए ट्यूबवेल, उत्तर प्रदेश के किसानो के लिए नई योजना जाने

जानिए भारत के टॉप सोलर ब्रांड

India's Top Solar Brand
  • टाटा पावर सोलर: टाटा के सोलर पैनलों की दक्षता 18 से 22 फीसदी तक रहती है। ये देश के शीर्ष सोलर निर्माता कंपनी में आती है जोकि बेहतरीन प्रदर्शन के लिए प्रसिद्ध है। कंपनी के सोलर उत्पाद विश्व के अन्य देशों में भी निर्यात होते है।
  • वारी एनर्जी: वारी एनर्जी को जानी मानी ब्रांड मूल्य समेत देश की शीर्ष सोलर कंपनी में स्थान मिल हुआ है। इनके सोलर पैनल के मूल्य बहुत सही रहते है और कंपनी पॉलीक्रिस्टलाइन, मोनोक्रिस्टलाइन और बाइफेशियल तीनों प्रकार के सोलर पैनलों को तैयार कर रही है।
  • अडानी सोलर: कम्पनी की तरफ से उच्च दक्षता के सोलर पैनल आ रहे है। इस सोलर पैनल को इस्तेमाल में लाकर आप अच्छे एवं मजबूत सोलर सिस्टम को इस्तेमाल कर पाएंगे। कंपनी के सोलर प्रोडक्ट का इस्तेमाल विश्वभर के काफी देश कर रहे है।
  • विक्रम सोलर: विक्रम सोलर द्वारा पॉलीक्रिस्टलाइन और मोनोक्रिस्टलाइन टाइप के पैनलों को बनाया जाता है जोकि अपनी उच्च दक्षता को लेकर फेमस है। कंपनी के ये सोलर पैनल काफी अन्य देशों में निर्यात हो रहे है। विक्रम सोलर को उनके सोलर उपकरणों के कम को लेकर विश्वभर में लोकप्रियता मिली है।
  • ल्यूमिनस: यह इलेक्ट्रिक एवं सोलर के उपकरणों की निर्माता कंपनी है जोकि अपने सभी उत्पाद के लिए फेमस है। ये पॉलीक्रिस्टलाइन और मोनोक्रिस्टलाइन टाइप के सोलर पैनलों का उत्पादन करती है।

Also Readअब सोलर से चार्ज करें अपनी इलेक्ट्रिक कार, मुफ्त में लें दोनों चीज़ों का आनंद

अब सोलर से चार्ज करें अपनी इलेक्ट्रिक कार, मुफ्त में लें दोनों चीज़ों का आनंद

You might also like

Leave a Comment

हमारे Whatsaap ग्रुप से जुड़ें